MBBS Fees In India

भारत में एमबीबीएस एक चिकित्सा शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए स्नातक के लिए महत्वपूर्ण विकल्प के रूप में उभर कर आया  है। भारत में  वर्तमान में कुल 335 मेडिकल कॉलेज हैं इसके अन्तर्गत 180 निजी संस्थान हैं और 155 सरकारी संस्थान से निरंतर भारत के कोने- कोने से  छात्र मेडिकल  की डिग्री प्राप्त करते है । भारत में MBBS आवेदन करने के लिए, छात्रों को NEET प्रवेश परीक्षा  पास करनी होती है । भारत में MBBS  करने के इच्छुक  सभी छात्रों को प्रवेश परीक्षा क्लियर करने के बाद NOC (अनापत्ति प्रमाण पत्र) प्राप्त होता है।Mbbs Fees in India Private College 2021 , Mbbs Fees in India Government College 2021 , Mbbs Lowest Package in India , Minimum Fees for Mbbs in India in Private College , Mbbs Fees in Aiims , Top 10 Government Medical Colleges in India

सरकारी सीटों के लिए छात्रों को राज्य स्तर की काउंसलिंग संबंधित संगठनों के नियुक्त अधिकारियों द्वारा की जाती है। भारत में एमबीबीएस स्वास्थ्य चिकित्सकों के लिए सबसे बेहतर विकल्प है जो चिकित्सक और सर्जन के रूप में अपना कैरियर बनना चाहते हैं। एमबीबीएस कोर्स पूरा करने के बाद  ही  छात्रों को डिग्री “बैचलर ऑफ मेडिसिन” या “बैचलर ऑफ सर्जरी” प्रदान की जाती है। भारत में एमबीबीएस कोर्स की अवधि 5.5 वर्ष में पूर्ण होता है। जिसमें 1 वर्षीय सशुल्क इंटर्नशिप शामिल किया गया है। भारत में एमबीबीएस पाठ्यक्रम की संबद्धता(Affiliation)और मान्यता मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) और भारत के सरकारी अधिकारियों द्वारा  प्रदान की जाती है।

एमबीबीएस के लिए अभ्यर्थी की योग्यता:-  किसी भी एमबीबीएस के कॉलेज में प्रवेश होने के लिए एक छात्र को नीट( NEET) का एंट्रेंस क्लियर करना आवश्यक  है। एमबीबीएस के कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए अभ्यर्थी की आयु 17 से 25 साल के बीच की  होनी चाहिए।

एमबीबीएस कोर्स फीस: – एमबीबीएस की फीस एक सरकारी कॉलेज और एक प्राइवेट कॉलेज में दोनों में अलग अलग होती है। एक सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिलना तो कठिन होता है इसमें विद्यार्थी को फीस में कम होती जिससे छात्रों को बड़ी राहत मिलती है  , उसी प्रकार एक प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेना  तो सहज  होता  है मगर उनकी फीस बहुत अधिक  होती है।आप ऐसे समझ सकते है:

भारत में एमबीबीएस कोर्स के विषय में जाने संक्षिप्त में
बेसिक योग्यता सर्वोत्तम अंको 10+2(PCB) उत्तीर्ण होने के साथ ही
NEET  प्रवेश परीक्षा छात्रों को( NEET ) आयोजित प्रवेश प्रतीक्षा में सर्वाधिक अंको अंक अर्जित अनिवार्य है।
IELTS या  TOEFL उत्तीर्ण करना जरूरी नहीं है ।
न्यूनतम पाठ्यक्रम का वर्षिक शुल्क 4 लाख प्रतिवर्ष
अधिकतम पाठ्यक्रम  का वार्षिक शुल्क रु तकरीबन 15 लाख प्रतिवर्ष
विद्यार्थी के भारत में रहने का खर्च वहन 9 हजार प्रतिमाह
कोर्स की अवधि (वर्षों में) 5.5 के साथ ही 1 वर्ष की इंटर्नशिप
विश्वविद्यालय को मान्यता दी गई एमसीआई और डब्ल्यूएचओ के द्वारा
शिक्षा देने का माध्यम रखा गया अंग्रेजी भाषा के माध्यम से
शीर्ष मेडिकल कॉलेज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)
जलवायु विशिष्टता गर्म ,ठंडा के साथ ही बरसात मुख्य रूप से पाई जाती है।

 

Leave a Comment

Don`t copy text!