कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन 2021 : Kusum Yojana Registration, आवेदन फार्म

भारतीय कृषि कृषि प्रधान देश है .यहां व्यवसाय के रूप में कृषि का बेहद महत्वपूर्ण योगदान है और कृषि क्षेत्र में वृद्धि को से हमारे देश की उन्नति जुड़ी है .इसी को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार की ओर से राजस्थान कुसुम योजना प्रारंभ की गई है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को सिंचाई हेतु सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप प्रदान रखा गया है। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार वह राज्य सरकार की ओर से 3 करोड़ पेट्रोल और डीजल युक्त सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा पंपों में परिवर्तित की जाएगी .अभी तक सिंचाई के लिए किसान डीजल और पेट्रोल की मदद लेकर कृषि कार्य करता था .इस योजना के माध्यम से किसान को काफी लाभ पहुंचेगा पेट्रोल और डीजल से सिंचाई करने के दौरान कृषक को आर्थिक रूप से हानि का वहन करना पड़ता था. इस योजना के माध्यम से पेट्रोल एवं डीजल डीजल से चलने वाले सौर ऊर्जा के द्वारा चलाया जाएगा. खास बात तो यह है योजना के पहले चरण में देश के 1.75 लाख पंप को सोलर पैनल से जोड़ दिया गया है ।Rajasthan Kusum Yojana 2021 , Rajasthan Kusum Yojana Application Form , Kusum Yojana Apply Online , राजस्थान कुसुम योजना आवेदन फार्म , राजस्थान सोलर पंप योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन , कुसुम योजना पंप वितरण स्कीम

कुसुम योजना योजना से संबंधित प्रमुख बिंदु

 1.) इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार के द्वारा 17.5 लाख डीजल पम्पो के साथ ही 3 करोड़ों खेती उपयोगी पंप को आने वाले 10 वर्षों में सोलर पंप में बदल दिए जाने का लक्ष्य रखा गया है.

2.) राजस्थान के किसानों की योजना काफी फायदेमंद साबित हो सकती है क्योंकि इस योजना के द्वारा किसानों की पैसों की बचत होगी .खेतों में सोलर पंप अथवा उत्पादों को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार की ओर से अपने प्रारंभिक बजट में 50 हजार करोड़ रुपयों को आवंटित किया गया है.

3.) इस योजना के तहत 2021-22 ने राज्य के 20 लाख किसान भाइयों को सोलर पंप लगाने का लक्ष्य तैयार किया गया है.

4.) इस योजना के माध्यम से सिंचाई के लिए उपयोग के जाने पम्पो को सौर ऊर्जा वाले पंप में विस्थापित किया जाएगा ऐसा करने से किसान भाइयों को आर्थिक बचत होगी.

5.) सूखे से प्रभावित क्षेत्रों के लिए कुसुम योजना बेहद कल्याणकारी सिद्ध होती है ।क्योंकि ऐसे क्षेत्र में फसल हानि के ज्यादा आसार बने रहते हैं सोलर पंप  के द्वारा सिंचाई करने से फसल हानि होने से रोका जा सकता है।

6.) कुसुम योजना 2021 से लेकर 2022 तक का लक्ष्य 3 करोड़ सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना करना रखा गया है। जिसकी कुल लागत 1.4 लाख रुपए है। केंद्र सरकार की ओर से 48 हजार करोड रुपए का योगदान देगी और इतनी सहयोग राशि राज्य सरकार द्वारा भी प्राप्त होगी.

7.) इस योजना के माध्यम से देश के कृषक भाइयों कुल लागत का 10 फ़ीसदी ही भुगतान करना होगा .जबकि 48000 करोड़ भुगतान बैंक लोन के माध्यम से किया जाएगा।

कुसुम योजना के चार प्रमुख कॉम्पोनेंट्स क्या है:-  इस योजना के अंतर्गत चार प्रमुख कंपोनेंट्स आते हैं निम्न प्रकार है

1.) सोलर पंप का वितरण :कुसुम योजना के प्रारंभिक चरण के समय केंद्र सरकार के विभागों के साथ सहयोग करके जैसे कि बिजली विभाग सौर ऊर्जा संचालित पंप के सफल वितरण का कार्य का दायित्व लेगी

2.) सौर ऊर्जा के कारखाने का निर्माण: कुसुम योजना के तहत सौर ऊर्जा के कारखानों का निर्माण किया जाएगा क्योंकि इसी से पर्याप्त मात्रा में बिजली को उत्पादित करने की क्षमता में बढ़ोतरी की जा सकती है

3.) ट्यूबवेल को स्थापित करवाना: सरकार के माध्यम से ट्यूबवेल की स्थापना होगी जिसके लिए एक निर्धारित मात्रा में बिजली के उत्पादन का कार्य संपादित हो सके।

वर्तमान पंपों पूरी तरह आधुनिकरण:- वर्तमान पंपो का पूरी तरह आधुनिकरण भी इसी चरण के तहत आता है इसमें पुराने पंपो के स्थान पर अत्याधुनिक सौर पंपो  विस्थापित किया जाएगा इस योजना के तहत पहले ड्राफ्ट बांझ क्षेत्रों में लगाए जाने की योजना है .जिससे कि 28000 मेगा मार्ट की बिजली का उत्पादन किया जा सके .सरकार ने  इसके प्रथम चरण में 17.5 सौर ऊर्जा से  चालित पंप किसानों को मुहैया कराएं. इसके अतिरिक्त बैंक की ओर से किसानों को लोन के माध्यम से कुल खर्च का 30 प्रतिशत अतिरिक्त प्रदान की जाएगी. यही नहीं किसान को मात्र अग्रिम लागत खर्च वहन के लिए उत्तरदाई होगा

इस योजना की प्रमुख विशेषता क्या है:- राजस्थान राज्य अक्षय ऊर्जा निगम के माध्यम से कुसुम योजना के तहत 0.5 मेगा वाट से प्रारंभ होकर 2 मेगा वाट तक की सोलर पंप वितरित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के लिए यदि किसान भाई आवेदन करना चाहते हैं, तो वह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से कर सकते हैं

कुसुम योजना 2021 के मुख्य उद्देश्य ( कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन 2021 ) :-  जैसा कि आपको ज्ञात होगा कि भारत के ऐसे बहुत से राज्य है जोकि सूखे से प्रभावित रहता है .ऐसे में वहां के किसानों को खेती का कार्य करने में काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है .इसके साथ ही उन्हें सूखे से होने वाली फसल हानि के लिए भी तैयार रहना पड़ता है. इन सब समस्याओं का निदान निकालने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2021 को प्रारंभ की है. इस योजना का मुख्य लक्ष्य  किसानों को अतरिक्त खर्च  से बचाना यानी मुफ्त में बिजली मुहैया कराना.इस योजना के अंतर्गत किसान भाइयों को सिंचाई हेतु सोलर सोलर पैनल की सुविधा प्राप्त होगी। कुसुम योजना के माध्यम से किसानों को दोगुना फायदा होगा एक तरफ उनकी आय में वृद्धि होगी वहीं दूसरी ओर किसान अधिक बिजली का उत्पादन करके ग्रिड को बेचेंगे तो उन्हें इसकी अच्छी खासी कीमत प्राप्त होगी.

कुसुम योजना 2021 आवेदक को मिलने वाले लाभ:- 

1.) इस योजना से विशेष तौर पर कृषक वर्ग को लाभ प्राप्त होगा

2.) किसान भाइयों को रियायती मूल्य पर सोलर  सिंचाई पंप मुहैया कराए जाएंगे

3.) इस योजना के तहत 10 लाख ग्रिड से संबंधी कृषि पंपों का सोलराइजेशन किया जाएगा

4.) कुसुम योजना 2020 के के माध्यम से पहले चरण में डीजल से चलित 17.5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा के द्वारा चलाया जाएगा जिसके परिणाम स्वरूप डीजल की खपत पहले की अपेक्षा कम होगी|

5.) इस योजना के तहत सिंचाई करने के लिए सोलर पंप  ऊर्जा  से चलेंगे जिससे किसान खेती के प्रति प्रोत्साहित होंगे.

6.) इस योजना के माध्यम से अतिरिक्त मेगावाट बिजली का उत्पादन किया

7.) इस योजना के तहत सोलर पैनल स्थापित करने के लिए सरकार की ओर से किसानों को 60% केंद्र सरकार के माध्यम से आर्थिक सहायता दी जाएगी इसके साथ ही 30 प्रतिशत ऋण भी प्रदान किया जाएगा इसमें मात्र 10  फ़ीसदी  इंसान को भुगतान करना होगा

8.) यह योजना विशेष तौर पर उन किसान भाइयों के लिए अच्छी साबित होती है जहां पर सूखा पड़ने के आसार सर्वाधिक होते हैं. अथवा जहां बिजली से  संबंधी समस्या सदैव खड़ी रहती है.

9.) सोलर प्लांट स्थापित हो जाने पर क्षेत्र में 24 घंटे बिजली उपलब्ध होगी जिसकी वजह से किसानों को कृषि कार्य करने में कोई  जटिलता उत्पन्न नहीं होगी.

10.) सोलर पैनल से निर्मित की गई अतिरिक्त बिजली किसान उस उत्पादित बिजली सरकारी अथवा गैर सरकारी ऐसे किसी भी विभाग बेचने का अधिकारी होता है. जिससे किसान को 1 माह के दौरान ₹6000 मदद के तौर पर प्राप्त होते हैं.

11.) इस योजना के तहत क्षेत्रों सोलर प्लांट लगाए जाएंगे जहां की भूमि उपजाऊ ना हो अर्थात बंजर हो. बंजर भूमि का सही उपयोग करें उसी भूमि से ही आय के नए साधन निर्मित किए जाएंगे.

 कुसुम योजना के तहत आवेदन के दौरान संलग्न दस्तावेज ( कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन 2021 ) :- 

1.) आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए

2.) आपके पास अपना बैंक अकाउंट हो उस की पासबुक की कॉपी

3.) आर्थिक स्थिति को प्रमाणित करने के लिए आय प्रमाण पत्र

4.) आवेदक के पास अपना सक्रिय नंबर होना चाहिए

5.) निवास प्रमाण पत्र की कॉपी

6.) आवेदक के पास पासपोर्ट साइज फोटो

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन 2021 कैसे करे:- 

1.) राज्य के इच्छुक किसान भाइयों को इस योजना से लाभ प्राप्त करने के लिए सर्वप्रथम उन्हें इस योजना के लिए आवेदन करना होगा

2.) सर्वप्रथम आवेदक को योजना से संबंधित अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा वेबसाइट पर जाते हैं आप के सापेक्ष होम पेज ओपन होगा

3.) अब आपको इस होम पेज पर अपना पंजीकृत” Online Registration”का विकल्प दिखाई पड़ेगा आपको इस पर क्लिक करना होगा इसके तुरंत बाद आपको आवेदन में मांगी गई जानकारी भरनी होगी जैसे कि आवेदक का नाम ,पता, आधार नंबर ,मोबाइल आदि

4.) अंत में आपको उपरोक्त जानकारी देने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा सफल पंजीकरण के बाद ही चयनित लाभार्थियो सोलर पंप पंप सेट की 10% लागत विभाग के माध्यम से अनुमोदित आपूर्तिकर्ताओं को जमा करने हेतु निर्देश दिया जाता है इसके कुछ ही दिनों के भीतर आपको अपने खेतों में सोलर पंप लगाने की स्वीकृति दे दी जाती है ।

इस आलेख को इंलिश में पढ़े :- Kusum Yojana Scheme 2021

कुसुम योजना योजना 2021 PDF
टोल फ्री नंबर :- 18001803333
ऑफिसियल वेबसाइट
सभी प्रकार की सरकारी योजना देखे

Leave a Comment

Don`t copy text!