Rajasthan NTT Salary: Rajasthan NTT Job Profile & Allowance

ntt teacher salary in rajasthan ntt salary in rajasthan ntt ki salary kitni hoti hai ntt teacher salary Rajasthan NTT Salary: राजस्थान NTT या फिर राजस्थान नर्सरी टीचर ट्रेनिंग शिक्षकों की भर्ती RSMSSB राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड द्वारा की जाती है। जिसकी स्थापना राजस्थान में भारत के संविधान के अनुच्छेद 309 के अंतर्गत राजस्थान सरकार ने 19/1/2014 में की। राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड का कार्य राजस्थान सरकार के अन्य सरकारी विभागों के लिए उच्च और योग्य अफसरों और पदाधिकारियों की नियुक्ति करना है।

RSMSSB विभाग राजस्थान के सरकारी स्कूलों में प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती करता है। राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड समय-समय पर निरंतर राजस्थान एनटीटी शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित करता है। जिसमें इच्छुक कैंडिडेट जिन के पास एनटीटी की डिग्री है। वो  राजस्थान NTT की परिक्षा में हिस्सा ले सकते हैं, और राजस्थान एनटीटी के पद पर पदस्थ हो सकते हैं। आज के आर्टिकल में हम  Rajasthan NTT Salary, Rajasthan NTT Salary In  Hand, Rajasthan NTT Job Profile, Rajasthan NTT Job Allowance, Rajasthan NTT Job Promotion इत्यादी के बारे में बात करने वाल  है।

Rajsthan NTT salary:- एनटीटी महिला शिक्षक को पे ग्रेड लेवल सिक्स के अनुसार प्रति महीने ₹24200 से लेकर ₹25200 सैलरी मिलती है, इस सैलरी में राजस्थान द्वारा दिए जाने वाले अपने सभी सरकारी कर्मचारियों और अफसरों को भत्ते भी शामिल हैं जो कि राजस्थान एनटीटी महिला शिक्षक को उनकी सैलरी में जुड़कर प्रति महीने उनके खाते में मिलते हैं, इसके अलावा उन की मासिक सैलरी में कुछ कटौती भी की जाती हैं।

Rajsthan NTT  Salary :-

Category Amount
Basic Salary Rs. 24200-25200/-
CCA  3-5% of basic salary (680-1050)
DA 17% of  basic salary (2950-4560)
HRA 8 % of  basic salary ( 2150-2250)
Grade Pay 2800

Rajsthan NTT Salary in Hand:- राजस्थान सरकार द्वारा अपने सभी सरकारी कर्मचारियों को कुछ भत्ते दिए जाते हैं जैसे घर किराया भत्ता, महंगाई भत्ता और भी बहुत प्रकार के भत्ते दिए जाते हैं  इसी संदर्भ में राजस्थान सरकार नर्सरी ट्रेनिंग टीचर को भी भत्ते देती है जो कि उनकी सैलरी में प्रति माह उन्हें मिल जाता है। राजस्थान सरकार भत्तों के साथ साथ उनकी सैलरी में कुछ काटोतियां भी करती है। जैसे प्रोविडेंट फंड या सरकार द्वारा लगाए गए टैक्स। यह सब उनकी मासिक सैलरी से काट कर जो शेष रकम बच जाती है उनके अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।

Category Amount
PF (10% of Basic) 2420-2520/-
NPS (10% of Basic+DA) 4450-4850/-
Income Tax As Per Govt. Norms

 

Total In Hand Salary after Deductions :-  Rs.25500-30000/- Per month (approx.)

Rajasthan NTT Job profile:- Rajasthan NTT नर्सरी टीचर ट्रेनिंग टीचर स्कूलों में नहीं पढ़ाते बल्कि यह आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को प्राथमिक शिक्षा देते हैं। राजस्थान नर्सरी टीचर का काम अन्य सरकारी विभागों में कार्यरत सरकारी अफसरों की तरह नहीं होता बल्कि इनका कार्य दिन के कुछ घंटे ही आंगनवाड़ी केंद्रों में होता है जो कि नर्सरी के बच्चों को प्राथमिक शिक्षा देने का कार्य करती हैं। यह तो आप जानते ही हैं आज के समय में शिक्षा कितनी महत्वपूर्ण हो चुकी हैं।

और भारत सरकार ने शिक्षा को पहुंचको सभी के लिए आसान बना दी है। सरकारी स्कूलों में कक्षा 1 से विद्यार्थियों की भर्ती होती है लेकिन प्राथमिक शिक्षा की व्यवस्था आंगनवाड़ी केंद्रों में की गई है। जिसकी जिम्मेदारी राजस्थान नर्सरी टीचिंग ट्रेनिंग शिक्षकों को सौंपी गई है, राजस्थान नर्सरी ट्रेनिंग टीचर्स का कार्य बच्चों को को प्राथमिक शिक्षा देना है। नर्सरी टीचर बच्चों के शुरुआती शैक्षणिक विकास और मानसिक विकास करने में सहायक होती है एक एनटीटी शिक्षक ही बच्चों के शुरुआती गुण पहचान कर उनके मानसिक विकास में सहयोग करता है।

Rajasthan NTT Job promotion:- राजस्थान एनटीटी महिला शिक्षकों की सीधी भर्ती लिखित परीक्षा से होती है और इनका परिवीक्षा काल दो समय तक 2 साल तक होता है, परिवीक्षा काल वह समय होता है जिसमें कोई भी सरकारी अफसर या शिक्षक परमानेंट जॉइन नहीं होता इस परिवीक्षा अवधि में अच्छा नहीं करने पर आपको नौकरी से निकाला भी जा सकता है।
राजस्थान NTT या राजस्थान नर्सरी टीचिंग ट्रेनिंग शिक्षकों को उनके जॉब लगने के बाद उनकी योग्यता और कार्यकुशलता के अनुरूप समय-समय पर जॉब प्रमोशन मिलती रहती है जो कि राजस्थान सरकार में पदस्थ आने सरकारी विभागों में अफसरों और कर्मचारियों की तरह ही है। राजस्थान नर्सरी टीचर ट्रेनिंग शिक्षकों की पदोन्नति के बाद उनके मिलने वाली सैलरी में भी बढ़ोतरी होती है।

Rajasthan NTT Job Allowence:- राजस्थान सरकार द्वारा अपने सभी सरकारी कर्मचारियों को उनके कार्यकाल के दौरान विभिन्न प्रकार के भत्ते दिए जाते हैं, जो उनके कार्यकाल में उन्हें प्रोत्साहित करते हैं। राजस्थान नर्सरी ट्रेनिंग टीचर को भी राजस्थान सरकार द्वारा भत्ते दिए जाते हैं जो इस प्रकार है:-

Home Rent Allowance:- राजस्थान सरकार के सरकारी विभागों में पदस्थ सभी सरकारी कर्मचारियों और अफसरों को काम के सिलसिले में अपने घर से दूर पोस्टिंग मिल सकती है, जिसकी वजह से उन्हें किराए से घर लेकर रहना पड़ता है। राजस्थान सरकार द्वारा उन्हें होम रेंट अलाउंस या घर किराया भत्ता मिलता है। राजस्थान सरकार में पदस्थ नर्सरी ट्रेनिंग टीचर्स को भी राजस्थान सरकार द्वारा होम रेंट अलाउंस मिलता है जो कि उनकी सैलरी का 8% से 10% तक होता है। घर किराया भत्ता शहरी तथा ग्रामीण इलाकों में अलग-अलग दिया जाता है।

Dearness Allowence:- राजस्थान सरकार द्वारा अपने सभी सरकारी कर्मचारियों और अफसरों को महंगाई भत्ता दिया जाता है जो कि उनकी सैलरी का 17% होता है। राजस्थान नर्सरी ट्रेनिंग टीचर को भी राजस्थान सरकार द्वारा मंहगाई भत्ता दीया जाता है, जो उन्हें हर महीने की सैलरी के साथ ही मिल जाता है।

Medical Allowence:- राजस्थान सरकार के सरकारी विभागों में पदस्थ सभी सरकारी कर्मचारियों को चिकित्सा भत्ता दिया जाता है या फिर सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज करवाया जाता है। राजस्थान नर्सरी ट्रेनिंग टीचर्स को भी राजस्थान सरकार द्वारा मेडिकल अलाउंस दिया जाता है।

Travel Allowance:- राजस्थान नर्सिंग ट्रेनिंग टीचर्स को राजस्थान सरकार द्वारा ट्रैवल एलाउंस दिया जाता है। जो राजस्थान सरकार द्वारा अपने सभी सरकारी कर्मचारियों और अफसरों को दिया जाता है। और यह भत्ता भी राजस्थान सरकार अपने सभी कर्मचारियों के खाते में हर महीने मिलने वाली सैलरी के साथ दिया जाता है।

Pention:- राजस्थान सरकार राजस्थान नर्सिंग ट्रेनिंग टीचर्स को उनके कार्यकाल के दौरान उन्हें विभिन्न प्रकार के भत्ते तो देती ही है, लेकिन राजस्थान नर्सिंग ट्रेनिंग टीचर्स को उनके सेवानिवृत्ति के बाद भी पेंशन सुविधा उपलब्ध करवाती है। जो उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद हर महीने मिलती रहती है।

Conclusion:-

किसी भी देश का विकास उसकी शिक्षा पर निर्भर करता है। भारत जैसे विकासशील देश जो निरंतर विकास की ओर अग्रसर है उसके लिए तो शिक्षा बहुत जरूरी है। भारत सरकार शिक्षा पर ध्यान भी दे रही है और भारत सरकार द्वारा सालाना अरबों खरबों रुपए शिक्षा पर खर्च कर दिए जाते हैं।जिसमें बहुत बड़ी रकम भारत सरकार द्वारा शिक्षकों पर खर्च की जाती है। लेकिन फिर भी भारत के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर नहीं सुधर रहा बल्कि और बिगड़ रहा है। किसी भी छात्र के लिए प्राथमिक शिक्षा बहुत आवश्यक है यदि किसी भी छात्र की प्रारंभिक शिक्षा अच्छी नहीं होगी तो वह आगे की शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाएगा,और उसे बहुत कठिनाई होगी।

राजस्थान एनटीटी शिक्षक किसी भी छात्र को प्रारंभिक शिक्षा देने का कार्य करते हैं, जिससे वे आगे की शिक्षा आसानी से ग्रहण कर सके। भारत के सभी सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर बहुत ही निचले स्तर पर हैं कोई भी सरकारी शिक्षक अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में नहीं पड़ना चाहता क्योंकि उसे पता है कि सरकारी स्कूल में शिक्षा का स्तर क्या है।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

Don`t copy text!