Connect with us

BDS

BDS कोर्स क्या है

Published

on

1.) BDS कोर्स Kya Hai :-बैचलर ऑफ़ डेंटल साइंस [BDS] जो कि एक under graduate program है एवं जिसे आप 12वीं के बाद कर सकते हैं | इस कौर्स को करने के दौरान आप कॉलेज में दांतों से जुड़ी हर तरह की बीमारी एवं उसका इलाज करना सिखाते हैं | कई प्राइवेट कॉलेज में BDS पूरा होने के बाद डेंटल हॉस्पिटल में 1 वर्ष या उससे ज्यादा की intership कराई जाती हैं जिससे आसानी से जॉब मिल सके |

2.) BDS Full Form :-
1)FULL FORM OF BDS – DENTAL OF BACHELOR SURGERY
2) हिन्दी में – दंत चिकित्सा सर्जरी के स्नातक

3.) BDS कोर्स के लिए योग्यता :-
उम्मीदवारों को बी.डी.एस. में प्रवेश के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 10+2 में विज्ञान में 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है|
एम.डी.एस. में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से बी.डी.एस. की डिग्री होना अनिवार्य है|
1) 17 वर्ष या उससे अधिक
2) इंटरमीडिएट, बी.डी.एस.
3) ऑल इंडिया एंट्रेंस एग्जाम (NEET)

4.) BDS Course Fess :-
प्राइवेट कॉलेज में BDS की फ़ीस 2 से 10 लाख तक होती है | जो अलग अलग क्षेत्र एवं यूनिवर्सिटी के ऊपर निर्भर करता हैं सही फ़ीस पता करने के लिए आप अपने नजदीकी कॉलेज या अपने क्षेत्र का नाम कमेंट में लिखे ताकि हम आपकी बेहतर मदद कर सकें |

5.) BDS कोर्स की सैलरी :-
BDS/ MDS में डिग्री पाने के बाद किसी हॉस्पिटल में ट्रेनी (जूनियर डॉक्टर) के रूप में नियुक्त किया जा सकता है, बाद में आप डॉक्टर के पद पर नियुक्त हो सकते है | इसमें सैलरी 20,000/- से 80,000/- तक भी हो सकती है, तथा निजी संस्थानों में ये 20,000/- से 2,50,000 तक हो सकती हैं | अत: करियर के लिहाज से हम कह सकते है कि Dental Surgery में करियर बनाना अच्छा निर्णय हो सकता हैं|

6.) BDS कोर्स में कौन-कौनसे Courses & Subject होते है :-
1) विषमदंत
2) मानव मनोविज्ञान
3) डेंटिस्ट्री में प्रयुक्त सामग्री
4) मानव मौखिक शरीर रचना विज्ञान, ऊतक विज्ञान और दांत आकृति विज्ञान
5) ओरल पैथोलॉजी और ओरल माइक्रोबायोलॉजी
6) ओरल एंड मैक्सिलोफ़ेसियल सर्जरी

7.) बीडीएस कोर्स का पाठ्यक्रम :-
व्यवसाय की नवीनतम जरूरतों के अनुसार, बीडीएस पाठ्यक्रम इसे अद्यतन रखने के लिए डिज़ाइन और संशोधित किया गया है| पाठ्यक्रम का उद्देश्य छात्र को सभी प्रकार की मौखिक स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने के लिए तैयार करना है|
इस कोर्स के पाठ्यक्रम में कोर कोर्स, ऐच्छिक और व्यावहारिक कार्यशालाएं शामिल हैं| प्रत्येक सत्र में तीन परीक्षा आयोजित करके एक आंतरिक मूल्यांकन किया जाता है| मूल्यांकन का यह हिस्सा अंकन योजना का 20% है| विवा वॉयस के लिए एक और 20% आवंटित किया गया है| बाकी यह विश्वविद्यालय द्वारा लिखित परीक्षा का मार्ग करता है|
इस पाठ्यक्रम की डिलीवरी विधि कक्षा संतुलन को रोकने के लिए कक्षा शिक्षण, सेमिनार, सम्मेलन, नैदानिक कार्य, समूह चर्चाओं और प्रदर्शनों को एक साथ जोड़ती है|

8.) BDS कोर्स collage Admission :-
1) मौलाना आज़ाद डिप्लोमा डेंटल साइंसेज, दिल्ली
2) गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, मुंबई
3) गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, औरंगाबाद
4) एसडीएम कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज एंड हॉस्पिटल, धारवाड़
5) डॉ। आर। अहमद डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कोलकाता
6) एसआरएम डेंटल कॉलेज, चेन्नई
7) गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, नागपुर
8) सरस्वती डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, लखनऊ
9) मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज, मणिपाल
10) एबी शेट्टी मेमोरियल इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, मैंगलोर

9.) BDS कोर्स के बाद जॉब :-
BDS/MDS में डिग्री प्राप्त करने के बाद आपको सरकारी अस्पतालों या निजी अस्पतालों में डॉक्टर के रूप में जॉब मिल सकती है या फिर आप अपना निजी अस्पताल, क्लिनिक भी खोल सकते है | आप किसी भी मेडिकल संस्थान में अध्यापक के पद पर कार्यरत भी हो सकते है | अत यह कहना गलत न होगा कि करियर के लिहाज से BDS कोर्स एक अच्छा विकल्प है|धन्यवाद !

इस आलेख को इंग्लिश में पढ़े :- All About BDS – Full Form, Subjects, Courses, Degree & Scope
 लेटेस्ट जॉब देखे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Don`t copy text!