LLB Me Kitne Subject Hote Hai

Llb Me Kitne Subject Hote Hai , Graduation Ke Baad Llb Kaise Kare , LLB Course Kya Hai, Llb Ke Liye Qualification in Hindi , Llb Ki Jankari Hindi Me , Llb Ka Course , Llb Karne Ke Liye Age , Llb Ke Liye Age Limit , LLB Kaise Kare , एलएलबी करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए व इसके लिए क्या पढ़े

1.) LLB क्या है ? :- LLB.कानून में स्नातक की डिग्री है आजकल छात्र चाहते हैं कि वे अपना करियर कानून के क्षेत्र में बनाएं। क्योंकि इस क्षेत्र में आपको अनेकों नौकरी के काफी अच्छे अवसर मिल जाते हैं। कानून से सम्बंधित सभी विषयों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लॉ के कोर्स बैचलर ऑफ लॉ (LLB) (कानून की स्नातक) में दी जाती है। हमारे समाज में शांति व्यवस्था बनाये रखने का काम कानून का होता है। और साथ ही समाज में होने वाले अपराधों को रोकना भी कानून का काम है। जब आप एलएलबी पूरा कर लेते हैं उसके बाद आप युवा बार काउंसिल में पंजीकरण कराने के बाद देश की किसी भी अदालत में मुकदमों की पैरवी कर सकते हैं। आप क्रिमिनल, रेवेन्यू या सिविल में से कोई भी क्षेत्र चुन सकते हैं।

 2.) LLB Full Form :- LLB को bachler of Law के नाम से जाना जाता है |

 3.) LLB Full Form In Hindi :– LLB हिंदी में विधि स्नातक से नाम से जाना जाता है |

 4.) LLB के लिए योग्यता :- वकील बनने के लिए या इसकी पढ़ाई करने के लिए आपके पास यह एलएलबी पात्रता होनी चाहिए तभी आप इसकी पढ़ाई कर सकते है।

  • अगर आप 12 के बाद  LLB की पढ़ाई करना चाहते है तो आपका 12वीं पास होना बहुत जरूरी है, जो पांच साल की होती है।
  • यदि आप 12वीं के बाद LLB कर रहे है तो 12वीं में आपके 50% होना चाहिए।

5.) LLB कोर्स की फीस :- LLB कोर्स की फीस 10000 से लेकर 2 लाख तक लगभग विभिन्न कोलेजों में अलग अलग होती है , जन्हा एडमिशन एंट्रेंस एक्साम्स के बाद होते है वंहा फीस प्राइवेट कॉलेज की तुलना में काफी कम होती है |

 6.) LLB Me Kitne Subject Hote :- लॉ के अंतर्गत कई कोर्स आते हैं जैसे

क्रिमिनल लॉ:- आपको बता दें कि क्रिमिनल लॉ सबसे प्रचलित कानून वाला कोर्स है। हर छात्र को इस कानून का अध्ययन करना पड़ता है। क्राइम्स और उसके प्रति कानून प्रावधान की जानकारी इसके अध्ययन से ही होती है। शुरुआत में थोड़ा मुश्किल लगता है लेकिन ज्यादा कठिन नहीं है।

कॉरपोरेट लॉ:- कॉरपोरेट लॉ के अंतर्गत कॉरपोरेट संसार में होने वाले अपराधों के लिए नियम और कानून का अध्ययन किया जाता हैं। कॉरपोरेट कानूनों से कॉरपोरेट सेक्टर में होने वाले अपराधों को रोकने के लिए तथा फाइनेंस प्रोजेक्ट, टैक्स लाइसेंस और ज्वॉइंट स्टॉक से संबंधित काम किए जाते हैं।

पेटेंट अटॉर्नी:- पेटेंट अटॉर्नी के अंतर्गत कोई व्यक्ति किसी वस्तु पर अपना पूर्ण आधिपत्य रखता है। कोई अन्य व्यक्ति उसकी मर्जी या सहमति के बिना उस अधिकार का प्रयोग नहीं कर सकता।

साइबर लॉ:- साइबर क्राइम से जुड़े मुद्दों पर कानून जानकारी इस कानून के तहत देता है कि उनसे कैसे निपटा जाये और उनके लिए सजा क्या है।

फैमिली लॉ:- यह क्षेत्र महिलाओं उपयुक्त और महिलाओं का सबसे पसंदीदा क्षेत्र है। इसके तहत तलाक, गोद लेने, पर्सनल लॉ, शादी, गाजिर्यनशिप एवं अन्य सभी पारिवारिक मामले आते हैं।  हर राज्य के सभी जिलों में पारिवारिक मामलों को उसी स्तर पर सुलझाने  के लिए फैमिली कोर्ट की स्थापना की गयी है।

बैंकिंग लॉ:- बैंकिंग  तहत लोन, लोन रिकवरी, बैंकिंग एक्सपर्ट आदि से संबंधित कार्यो का निपटारा होता है।बैंकिंग और उससे सम्बन्धित नियम और कानून का अध्ययन इस विषय में करवाया जाता है।

टैक्स लॉ:- इसके तहत सभी प्रकार के टैक्स जैसे सर्विस टैक्स, सेल टैक्स, इनकम टैक्स आदि से सम्बन्धित समस्यायों का निपटारा होता है।

LLb के अंतर्गत आने वाला पाठ्यक्रम ( LLB Me Kitne Subject Hote )  –

  • एलएलबी, अवधि : तीन वर्ष
  • बीए एलएलबी (ऑनर्स), अवधि : पांच वर्श
  • बीएससी एलएलबी (ऑनर्स), अवधि : पांच वर्ष
  • बीकॉम एलएलबी (ऑनर्स), अवधि : पांच वर्ष
  • एलएलएम
  • पीएचडी

 7.) LLB में किस collage में admission लें  :- आप निम्नलिखित कालेजों से लॉ की डिग्री हासिल कर सकते है

  • नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
  • पश्चिम बंगाल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जुरियाडिकल साइंसेस, कोलकाता
  • एमिटी लॉ स्कूल, दिल्ली, नोएडा
  • स्कूल ऑफ लॉ मसीह विश्वविद्यालय (एसएलसीयू, बैंगलोर)
  • न्यू लॉ कॉलेज, भारती विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय, पुणे
  • सिंबायोसिस लॉ स्कूल, पुणे
  • गुजरात नेशनल लॉ युनिवर्सिटी, गांधीनगर

–   आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ, मोहाली

–    K.L.E. सोसाइटी लॉ लॉ कॉलेज, बैंगलोर

8.) LLB करने के बाद जॉब  :- स्टूडेंट्स को एल.एल.बी कोर्स करने के बाद आसानी से जॉब मिल जाती है क्योंकि आजकल कानून के क्षेत्र में काफी अच्छे स्कोप होते हैं। LLB करने के बाद आप LLM और PHD भी कर सकते है। और इसके बाद Judiciary (न्यायपालिका) की परीक्षा देकर जज बनने के लिए भी आवेदन कर सकते है। अब बहुराष्ट्रीय कंपनी अपने ज़रुरी काम को देखने के लिए अच्छे पैकेज पर अपने यहाँ वकील रखती है।

  • लॉ फर्म (एसोसिएट)
  • ऍमएनसी (लीगल अफसर)
  • गोवेरमेंट एजेंसी
  • जुडिशल एसएमस
  • बैंक
  • लिटिगेशन

आप आरंभ में किसी वरिष्ठ वकील के जूनियर के रूप में अदालतों का व्यावहारिक काम सीख सकते हैं। और जब आपको कुछ वर्षो का अनुभव हो जाए उसके बाद स्वतंत्र रूप से प्रैक्टिस कर सकते हैं। इस क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता एलएलएम करने से और भी बढ़ सकती है। आपके पास अदालतों में एडवोकेट के रूप में प्रैक्टिस करने का पारंपरिक विकल्प तो होता ही है साथ ही स्टेट काउंसलर, गवर्नमेंट प्रॉजीक्यूटर बनने का विकल्प भी होता है। अगर आप जज बनना चाहते हैं तो राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली न्यायाधीश या मुंसिफ परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा। कॉरपोरेट सेक्टर काफी विकसित हो गया है जिस कारण अब इस क्षेत्र में भी विधि विशेषज्ञों की मांग पहले से बढ़ गई है।

9.) निष्कर्ष – में उम्मीद करता की आज की  हमारी इस पोस्ट (LLB क्या होता है ?) के  माध्यम से आपने यह जान लिया होगा की LLB क्या होता है और आप कैसे इसमें अपना करियर बना सकते है | अगर आपका LLB से सम्बंधित और कोई सवाल हो तो आप नीचे comment box में लिखकर पूछ सकते है , हमरी टीम द्वारा आपके हर सवाल का जवाब दिया जायेगा |

Useful Article 

 

2 thoughts on “LLB Me Kitne Subject Hote Hai”

  1. 60 साल की आयु में llb कर सकते है या नहीं कंहा से कर सकते है मेरे ma की हुई है ।बीकानेर या जोधपुर में कोई संस्थान हो तो बताना ।ओपन यूनिवर्सिटी से llb कंहा से हो सकती हैं।

    Reply

Leave a Comment

Don`t copy text!