M.Phil Course Kya Hai | m phil full form in hindi

M.Phil Course Kya Hai ,m phil kya hai , m phil full form in hindi , m phil course kya hai , m phil kya hota hai , एमफिल क्या होता है

 

M.Phil Course Kya Hai – आज के समय में M.Phil बहुत ही पॉपुलर कोर्स है इस कोर्स को करना अपने आप में बहुत बड़ी बात होती है और हमारे देश में इससे रिसर्च बेस्ड मजबूत होता है क्यूंकि ये कोर्स एक रिसर्च बेस्ड कोर्स है जिसे स्टूडेंट को करने में काफी जायदा मज़ा भी आता है | तो आप इस कोर्स को करके अपना करियर को उज्जवल बना सकते है लेकिन आपको ये जानना बहुत जरुरी है की M.Phil कोर्स क्या होता है और कैसे करे क्यूंकि बिना सोचे समझे किसी भी कोर्स को करना आपको असफल बनाती है तो में आपको बहुत सारा ज्ञान देने वाला हूँ जिससे आपको ये कोर्स करने में परेशानी न हो और आप अच्छे से कर सको

M.Phil Course Full Form :- एमफिल का फुल फॉर्म मास्टर ऑफ़ फिलोसॉफी (Master of Philosophy)

M.Phil Course के लिए योगयता 

अगर आप एमफिल की पढाई करना चाहते हो तो आपके पास कम से कम निचे बताये हुए चीजों में आपके पास होना चाहिए अगर है तो आप एमफिल (M.Phil) की पढाई कर सकते है सबसे पहले आप एक ग्रेजुएशन करे किसी भी सब्जेक्ट से | इसके बाद आप पोस्ट ग्रेजुएशन करे साइंस, आर्ट्स या इंजीनियरिंग में और अच्छे मार्क्स लाये आपका कम से कम 55 % मार्क्स के साथ पास होना चाहिए |

M.Phil Course Fess 

  • ट्यूशन फीस (प्रति वर्ष) – INR 40,000 / –
  • विश्वविद्यालय का प्रभार – INR 30,000 / –
  • सुरक्षा जमा एक बार – INR 10,000 / –
  • प्रसंस्करण शुल्क – INR 2,100 / –

M.Phil Course चयन प्रक्रिया 

एम.फिल कोर्स में प्रवेश के लिए दो तरीके हैं जैसे प्रवेश और प्रवेश (नेट / नेट-जेआरएफ)। NET / NET-JRF के मामले में छात्रों को अंतिम साक्षात्कार के लिए मेरिट (50% अंडरग्रेजुएट अंक + 50% पोस्ट ग्रेजुएट अंक) के आधार पर चुना जाता है। हालांकि प्रवेश परीक्षा के मामले में दो-स्तरीय चयन प्रक्रिया है, जिसमें एक लिखित परीक्षा और एक व्यक्तिगत साक्षात्कार शामिल है। लिखित परीक्षा में अनुसंधान, लेखा वित्त और कर, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और विपणन, मानव संसाधन प्रबंधन और कानून, और अर्थशास्त्र के लिए पांच क्षेत्रों को शामिल किया गया है। लिखित परीक्षा में आमतौर पर नकारात्मक अंकन के साथ वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होते हैं। लिखित परीक्षा आमतौर पर जुलाई या अगस्त के महीने में आयोजित की जाती है। लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों का व्यक्तिगत साक्षात्कार आमतौर पर लिखित परीक्षा की तारीख से एक महीने बाद आयोजित किया जाता है।

M.Phil Course में कौन-कौनसे Courses & Subject होते है 

दोस्तों सबसे पहले आपको बताना चाहता हूँ की एमफिल कोर्स करने के लिए सबसे पहले आपको ब्रांच को सेलेक्ट करना होता है यानी स्पेशलिसशन सेलेक्ट करना होता है इसके बाद आपको ब्रांच के अनुशार सब्जेक्ट को दिया जाता है तो में आपको ब्रांच के नाम निचे मिल जायेगा एक बार अच्छे से समझ बुझ कर सेलेक्ट करे।
1) बायोकेमिस्ट्री
2) गुजराती
3) प्राकृत
4) हिंदी
5) साइकोलॉजी
6) बायोटेक्नोलॉजी
7) बायोसाइंस

M.Phil Course करने के बाद जॉब 

एम.फिल। मूल रूप से एक कॉलेज / सेकेंडरी टीचर या प्रिंसिपल / उच्च माध्यमिक शिक्षक या प्रिंसिपल में व्याख्याता के लिए आवश्यक योग्यता प्रदान करता है। वैसे आप बहुत सारे चीजों में नौकरी का अवशर पा सके हो जब आप अच्छे से पढाई कर लेते हो यानी अच्छा जानकार हो जाते हो तो आपके लिए सारे देरवाजे खुल जाते है |
नौकरी का लेकिन वैसे तो बहुत कुछ चीजों में आप जॉब कर सकते हो बस आपके पास ज्ञान होना चाहिए तो वैसे एमफिल करने के बाद आपके पास बहुत सारा ऑप्शन होता है कुछ भी करने के लिए लेकिन में आपको कुछ बेहतरीन जॉब के बारे में बता देता हूँ जो बहुत जायदा ही अच्छा है उसके लिए आसानी से तैयारी कर सकते है |
1) कंसलटेंट
2) ह्यूमन सर्विसेज वर्कर
3) साइंटिस्ट
4) सोशल सर्विस वर्कर्स
5) लेक्चरर
6) स्पीकर
7) टीचर
8) असिस्टेंट प्रोफेसर

Useful Article 

Leave a Comment

Don`t copy text!