पायलट कैसे बने

Pilot की नौकरी आजकल सभी युवाओं को सबसे ज्‍यादा पसंद है इसकी वजह यह भी है कि इस क्षेत्र में न केवल खूब पैसा है बल्कि रोमांच भी भरपूर है लेकिन पायलट बनने के लिये बहुत से पैसे भी Spend करने पड़ते हैं और बहुत मेहनत भी करनी पड़ती है Pilot ये वो व्यक्ति होता है जो हवा में उड़ने वाले बिमान या हवाई जहाज को उड़ाने में सहायता करता है या उसको खुद उडाता है अगर सीधे शब्दों में कहे तो वो व्यक्ति जो हवाई जहाज, हेलीकाप्टर को उडाता है जहां तक सैलॅरी की बात है तो एक Commercial Pilot की सैलॅरी 1 लाख रुपये से शुरू होकर 4 लाख प्रति माह तक हो सकती है |

पायलट Full Form :- Programmed Inquiry Learning Or Teaching – PILOT प्रोग्राम्ड इन्क्वायरी लर्निंग या टीचिंग इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी-आईटी-इलेक्ट्रॉनिक्स

पायलट के लिए योग्यता :-
पायलट बनने के लिये उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए
पायलट बनने के लिये आपकी इंग्लिश अच्छी होनी चाहिए
पायलट बनने के लिये आप 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स विषय के साथ पास होने चाहिए |
पायलट बनने के लिये आप 12वीं क्लास कम से कम 50% अंको के साथ पास होने चाहिए
पायलट बनने के लिये आपको इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषा का काफी अच्छे से ज्ञान होना चाहिए |
पायलट बनने के लिये आप शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होने चाहिए
पायलट बनने के लिये आपकी उम्र कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए
पायलट बनने के लिये आपकी नजर अच्छी होनी चाहिए
पायलट बनने के लिये आपकी ऊंचाई 5 फिट से कम नहीं होनी चाहिए |

पायलट हेतु आयु सीमा ( Pilot Age Limited) :-
1.) एनडीए परीक्षा के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 16.5 से 19 वर्ष के बीच होनी चाहिए|
2.) सीडीएस परीक्षा, एनसीसी स्पेशल इंट्री और एएफसीएटी के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 20 से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए|

पायलट की सेलरी ( Pilot Salary) :-
Pilot की Salary उनकी Rank के अनुसार होती है जो कि Indian Air Force Pilot की Salary में जो Commercial Airlines चलाते हैं उनमें प्रथम श्रेणी के अधिकारी के रूप में शुरू होने वाले Pilot आमतौर पर रु। 80,000 से 150,000 Per Month कमा लेते हैं। इसके अलावा Flying Commanders को 350,000 रुपये से अधिक Salary दी जाती है। वहीं Private Pilot भी हर महीने का 1 Lakh तक तो कमा ही लेते हैं |

पायलट बनने का लाइसेंस :-
1) एसपीएल (छात्र पायलट लाइसेंस)
2) पीपीएल (प्राइवेट पायलट लाइसेंस)
3) सीपीएल (वाणिज्यिक पायलट लाइसेंस)

पायलट सिलेबस ( Pilot Syllabus) :-
वाणिज्यिक पायलट अभियान
उन्नत प्रणाली
उच्च – शक्ति की शक्ति
पर्यावरण और बर्फ नियंत्रण प्रणाली
RETRACTABLE LANDING GEAR
एरोडायनामिक्स और निष्पादन सीमाएं
उन्नत एरोडायनामिक्स
सटीक प्रदर्शनियां
नियंत्रण वजन और संतुलन
व्यावसायिक प्रवाह की शर्तें
आपातकालीन प्रक्रियाएँ
व्यावसायिक निर्णय लेना

PRACTICAL-
टेक ऑफ, लैन्डिंग्स और GO-AROUNDS
नोर्मल और एक्स-विंड टेक ऑफ और क्लीम्ब
सामान्य और एक्स-विंड अप्रोच और लैंडिंग
सॉफ्ट / शॉर्ट-फेल्ड टेक ऑफ और क्लिम्ब
सॉफ्ट / शॉर्ट-फ़ेल्ड अप्रोच और लैंडिंग
उड़ाना

चरण II-
1) प्रदर्शनकारियों
2) STEEP TURNS
3) CHANDELLES
4) LAZY रातें

चरण III-
1) विश्वसनीय संदर्भ निर्माण
2) PYLON पर आठ

चरण IV-
1) नेविगेशन
2) PILOTAGE & DEAD RECKONING
3) नेविगेशन प्रणाली और एटीसी रडार सेवा प्रभाग
4) ऋण प्रक्रिया

चरण V-
1) धीमी गति और रोशनी
2) धीमी गति से बहने वाला खाना बनाना
3) पावर-ऑफ स्टाल
4) बिजली चालू
5) स्पाइन पुरस्कार

चरण VI-
1) आपातकालीन संचालन
2) आपातकालीन उपचार
3) आपातकालीन अपच और भूमि
4) प्रणाली और उपकरण विश्लेषण
5) आपातकालीन उपकरण और सामान्य गियर

चरण VII-
1) उच्च क्षमता के संचालन
2) सहायक ऑक्जेन
3) दबाव

चरण VIII-
1) चेक पक्ष की तैयारी

पायलट प्रशिक्षण संस्थान :-
1) एशियाटिक इंटरनेशनल एविएशन एकेडमी, इंदौर
2) ब्लू डायमंड एविएशन, पुणे
3) एक्यूमेन स्कूल ऑफ पायलट ट्रेनिंग, दिल्ली
4) इंटरनेशनल स्कूल ऑफ एविएशन, आईएसए, नई दिल्ली
5) इंडियन एविएशन एकेडमी, मुंबई

निष्कर्ष
हमें यह उम्मीद है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आप यह जान गए होंगे की भारत में आप एयरक्राफ्ट पायलट किस तरह से बन सकते है आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें जरूर बताये साथ ही आपके मन में कोई सवाल और सुझाव है तो निचे कमेंट बॉक्स में हमारे साथ जरूर साझा करें हमें आपके प्रश्नो का इंतज़ार रहेगा।

Related Useful Article

2 thoughts on “पायलट कैसे बने”

Leave a Comment

Don`t copy text!