IAS Kaise Bane | आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने पूरी जानकारी

IAS Kya Hota hai, IAS Kaise Bane ,Ias Ka Kya Kaam Hota Hai in Hindi , Ias Ki Salary Kitni Hoti Hai , Ias Bada Hota Hai Ya Ips , Hindi Medium Se Ias Kaise Bane , Powers and Functions of an Ias Officer in Hindi , Ias Ke Liye Kya Padhe in Hindi , Ias Banne Ke Liye Kya Zaroori Hai , Ias Officer Power in Hindi , IAS Kya Hota Hai

 IAS Kya Hota Hai :- यूपीएससी प्रति वर्ष सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन कराता है जिसे हम आईएएस एग्जाम के नाम से जानते हैं। यूपीएससी विभिन्न सेवाओ के लिए लगभग दर्जन भर परीक्षाओ का आयोजन करता है, जैसे अभियांत्रिकी, चिकित्सा, वन सेवा इत्यादि। इस पोस्ट में हम यूपीएससी IAS परीक्षा पैटर्न के बारे में जानेंगे। इस परीक्षा में तीन चरण होते है पहला है प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) दूसरा है मुख्य परीक्षा (Main Exam) और तृतीय है साक्षात्कार अथवा व्यक्तित्व परिक्षण ( Interview / Personality Test) प्रत्येक अभ्यर्थी को इन चरणों से गुजरना होता है और तभी वह एक ऑफिसर बनता है |

  •  IAS Full Form :- IAS पूरा नाम Indian Administration Services के नाम से जाना जाता है |
  • IAS Full Form In Hindi :- IAS को हिंदी में इंडियन ऐडमिनीस्ट्रेसन सर्विसेज (Indian Administration Services ) के नाम से जान जाता है |

 IAS के लिए योग्यता 

सिविल सर्विस एग्जाम के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास कम से कम बैचलर की डिग्री होनी चाहिए। इस एग्जाम के लिए मिनिमम परसेंटेज की कोई शर्त नहीं है। यानी अगर आप ग्रैजुएशन कर चुके हैं तो आप परीक्षा में बैठ सकते हैं। वैसे इसके लिए आप उस समय भी आवेदन कर सकते हैं जब फाइनल इयर में हों | इसके अलावा कैंडिडेट इंडिया , नेपाल या भूटान से होना चाहिए |

 IAS हेतु आयु सीमा

IAS के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष है जबकि अधिकतम आयु सीमा हर वर्ग के हिसाब से अलग-अलग निर्धारित की गयी है। इसके अलावा कुछ विशेष वर्ग को इसमें छूट दी जाती है |

  • General Category –32 वर्ष
  • OBC –35 वर्ष (3 वर्ष की छूट)
  • SC/ST –37 वर्ष (5 वर्ष की छूट)
  • EWS –32 वर्ष (कोई छूट नहीं)
  • विकलांग– 42 वर्ष (10 वर्ष की छूट)

IAS की सैलरी

आईएएस ऑफिसर को काफी अच्छी सैलरी मिलती है। आईएएस ऑफिसर की कुल सैलरी हर महीने 56100 रुपये से शुरू होकर सर्वोच्च पद जैसे कैबिनेट सचिव के लिए 250000 रुपये तक जाती है आईएएस करियर का एक आकर्षक विकल्प है। बहुत सारे लोगों को उत्सुकता होती है कि एक आईएएस को कितनी सैलरी मिलती है।

विभिन्न ग्रेड के आईएएस ऑफिसर को ग्रेड के मुताबिक मिलने वाली सैलरी का विवरण नीचे दिया गया है।

   ग्रेड पे स्केल IAS ऑफिसर का ग्रेड पे सर्विस में जरूरी सालों क संख्या पद
जूनियर या लोअर टाइम स्केल 15600 – 39100 5400 सब डिविजनल मैजिस्ट्रेट (एसडीएम), एसडीओ या सब कलेक्टर (2 सालों के प्रोबेशन के बाद)
सीनियर टाइम स्केल 15600 – 39100 6600 5 डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट (डीएम) या कलेक्टर या किसी सरकार मंत्रालय का संयुक्त सचिव
जूनियर ऐडमिनिस्ट्रेटिव 15600-39100 7600 9 विशेष सचिव या सरकारी विभागों के प्रमुख
सिलेक्शन ग्रेड 37400-67000 8700 12-15 किसी मंत्री का सचिव
सुपर टाइम स्केल 37400-67000 8700 17-20 सरकार के काफी अहम विभाग का सचिव
एपेक्स स्केल 80000 (फिक्स्ड) NA अलग-अलग राज्यों के मुख्य सचिव, भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के प्रभारी केंद्रीय सचिव
कैबिनेट सेक्रटरी ग्रेड 90000 (फिक्स्ड) NA अलग-अलग भारत सरकार के कैबिनेट सचिव

नीचे की टेबल से आप समझ सकते हैं कि एंट्री लेवल पर एक आईएएस ऑफिसर को हर महीने कितनी सैलरी मिलती है और शीर्ष लेवल पर कितनी सैलरी मिलती है।

लेवल बेसिक पे डीए (महंगाई भत्ता) कुल सैलरी
एंट्री लेवल (शुरुआती सैलरी) 21000 26250 47250
अधिकतम वेतन (कैबिनेट सचिव स्तर) 90000 112500 202500

बेसिक पे शुरुआती स्तर पर हर साल 3 फीसदी बढ़ती है। कैबिनेट सचिव स्तर पर यह निर्धारित होती है। एंट्री लेवल पर हर साल महंगाई भत्ते में 10-14 फीसदी बढ़ोतरी होती है। शीर्ष स्तर पर डीए यानी महंगाई भत्ता बढ़ सकता है।

 IAS चयन प्रक्रिया :- IAS बनने के लिए आपको IAS की परीक्षा को पास करना होगा। यह परीक्षा 3 चरणों में होती है जिसके बारे में आपको निचे बताया है, तथा जोउम्मीदवार इस परीक्षा में उत्तीर्ण होते है उन्हें उनके रैंक के अनुसार IAS या अन्य अधिकारी बनाया जाता है।

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)
  • मुख्य परीक्षा (Main Examination)
  • साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रारंभिक परीक्षा IAS की 1st स्टेज होती है जिसे क्लियर करने के बाद उम्मीदवार इसकी 2nd स्टेज यानि मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकते है। UPSC द्वारा आयोजित सिविल परीक्षा में नई परीक्षा प्रणाली के अनुसार वर्तमान में प्रारंभिक परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होते है जनरल एबिलिटी टेस्ट और सिविल सर्विस एप्टीटुड टेस्ट। यह क्वालीफाइंग पेपर के रूप में होते है दोनों प्रश्नपत्र 200 – 200 अंको के होते है |

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

सिविल सेवा परीक्षा का दूसरा चरण मुख्य परीक्षा होती है। उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के पश्चात् ही मुख्य परीक्षा दे सकते है। इसके लिए उम्मीदवारो को लगभग 2 से 3 महीने का समय दिया जाता है। जिस प्रकार प्रारंभिक परीक्षा पूरी तरह वस्तुनिष्ठ (OBJECTIVE) प्रश्न पर आधारित होती है उसके विपरीत मुख्य परीक्षा में अलग-अलग शब्द सीमा वाले वर्णात्मक प्रश्न पूछे जाते है जिसमें अपने शब्दों में हमें उत्तर लिखना होता है। इसमें सफल होने के लिए अच्छी लेखन शैली की आवश्यकता होती है। IAS की परीक्षा में विषयों का चयन एक महत्वपूर्ण चरण होता है इसी पर आपकी सफलता निर्धारित होती है |

साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार का साक्षात्कार लिया जाता है। यह IAS एग्जाम या UPSC का अंतिम चरण इंटरव्यू होता है जिसमें सफल होने पर आपकी नौकरी पक्की हो जाती है। IAS एग्जाम के इंटरव्यू का कोई पैटर्न नही होता है ये किसी भी विषय से जुड़ा हो सकता है आईएएस इंटरव्यू के सवाल थोड़े अलग टाइप के हो सकते है |

 IAS के कार्य :- सिविल सेवकों के कार्य की प्रकृति प्रशासनिक होती है । ये समाज के हर तबके से प्रत्येक स्तर पर संबद्व रहते हैं । A.S, I.P.S. I.R.S. तथा अन्य प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा लिए गए फैसलों का असर लोगों की जिंदगी को प्रभावित करता है । सिविल सेवकों को अपने कार्य के दौरान, न केवल अपने अधिकार क्षेत्र वरन देश के अन्य भागों का भी दौरा करना पड़ता है । सिविल सेवक सही मायने में सरकारी नीतियों के वाहक होते हैं, यानि सरकारी जो कागज पर नीतियाँ बनाती है उसे धरातल पर अमलीजामा पहनाने का कार्य सिविल सेवक ही करते हैं|

9.) IAS syllabus :- संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) नेसिविल सेवा मुख्य परीक्षा के पैटर्न को 2015 से संशोधित किया है। वर्तमान में, 7 + 2 = 9 पेपर हैं। प्रत्येक पेपर वर्णनात्मक प्रकार का है। दो क्वालीफाइंग पेपर हैं – कोई भी भारतीय भाषा व अंग्रेजी, प्रत्येक के 300 अंक हैं। किसी भी तरह, ये अंक मुख्य परीक्षा में नहीं गिने जाते हैं। अभ्यर्थी अंग्रेजी में या संविधान की आठवीं अनुसूची से किसी भी एक भाषा को परीक्षा लिखने के माध्यम के रूप में चुन सकते हैं। IAS परिक्षा का पाठ्यक्रम बहुत ही विस्तृत एंव व्यापक है –

क्र. सं. विषय विभाजन पाठ्यक्रम विवरण
1 इतिहास

भारत का इतिहास

और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन

प्राचीन भारतीय इतिहास

मध्यकालीन भारतीय इतिहास

आधुनिक भारतीय इतिहास

 

2 भूगोल

भारत एंव विशव भूगोल

प्राकृतिक भूगोल

मानवीय भूगोल

आर्थिक भूगोल

3 भारतीय राज्यतंत्र और शासन भरतीय संविधान

राजनैतिक प्रणाली

पंचायती राज

लोक नीति

अधिकारों सम्बंधी मुद्दे आदि

4 अर्थव्यवस्था

आर्थिक एंव सामाजिक विकास

सतत् विकास

गरीबी समावेशन

जंसंख्यिकी

सामाजिक क्षेत्र में की गई पहल आदि

5 पर्यावरण और पारिस्थितिकीय

पर्यावरण और पारिस्थितिकी के सिद्धांत

जेव-विविधता और मौसम परिवर्तन

सामान्य सिद्धांत सम्बंधी सामान्य मुद्दे

विभिन्न शिखर सम्मेलन

6 सामान्य विज्ञान

भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और प्रौद्योगिकी

सामान्य सिद्धांत

प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नवीनतम विकास

7 सामयिक घटनाएं

इस में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व के सभी घटनाएं शामिल हैं

सामयिकी

करंट अफेयर्स विश्लेषण

सभी आयामों के साथ करंट अफेयर्स

निष्कर्ष – आज की हमारी इस पोस्ट  के माध्यम से आपने यह जान लिया होगा कि IAS क्या होता है और आप भी किस प्रकार आईएस की तैयारी कर सकते है , अगर IAS से रिलेटेड और कोई सवाल हो तो आप नीचे comment box में लिखकर पूछ सकते है | हमारी टीम द्वारा आपकी हर सम्भव् सहायता की जाएगी |

Related Useful Article

 

6 thoughts on “IAS Kaise Bane | आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) कैसे बने पूरी जानकारी”

Leave a Comment

Don`t copy text!