पत्रकार कैसे बनें (Journalist kaise bane)

आज कल हर कोई एक ऐसा करियर बनाना चाहता है जिसमे वो कुछ रचनात्मक कर सके। एक ऐसा करियर जो उसके गुणों और काबिलियत और भी निखार दे। एक ऐसा करियर जो उसके पसंदीदा विषय से जुड़ा हो। हर किसी के लिए उसका पसंदीदा विषय अलग अलग हो सकता है। पत्रकारिता यानी जर्नलिज्म समय के साथ बहुत बदल चूका है। जैसा की आप सब जानते है कि जल्द ही 12 वीं बोर्ड परीक्षा शुरू होने वाले हैं। इसके बाद क्या करें ? किस दिशा में अपना करियर बनाये जैसे सवाल हर किसी के मन में उठेंगे। अगर आप ने 12वीं में आर्ट्स स्ट्रीम लिया है और आप मीडिया में करियर बनाना चाहते है तो इस लेख को पढ़ें। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप पत्रकारिता में भविष्य बना सकते हैं। हर किसी के मन में आता है कि एक कोर्स करने के बाद उसके लिए रोजगार के क्या अवसर होंगे। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि पत्रकारिता के क्षेत्र में रोजगार के अवसर क्या हैं तो बिना समय व्यर्थ किये इस एक ही आर्टिकल में पत्रकारिता में भविष्य की पूरी जानकारी लें।

Journalist के लिए योग्यता –  दोस्तों अगर आप पत्रकार बनना चाहते हैं या आप पत्रकारिता के क्षेत्र में ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो आपको 12 वीं पास होना चाहिए। अगर आप पत्रकारिता के क्षेत्र में पोस्ट ग्रेजुएट करना चाहते हैं तो फिर आपको पत्रकारिता के क्षेत्र में ही बैचलर डिग्री होना अनिवार्य है। कई सारे प्राइवेट संस्थान 1 साल का सर्टिफिकेट कोर्स भी कराते हैं, जिसमें 12वीं पास स्टूडेंट इस कोर्स को कर सकते हैं, मतलब कुल मिलाकर अगर कहा जाए तो आपको पत्रकार बनने के लिए 12 वीं पास होना जरूरी है। यह तो रही पत्रकार बनने के लिए एक व्यक्ति के शैक्षिक योग्यता, लेकिन अगर आप सफल पत्रकार बनना चाहते हैं तो उस व्यक्ति में कुछ पर्सनल क्वालिफिकेशन भी होना चाहिए, जिसे ‘पर्सनालिटी डेवलपमेंट’ कहा जाता है जैसे कि एक पत्रकार को हमेशा जिज्ञासु होना चाहिए, नई नई चीजों को बारे में जानना और उसको सीखना।

Journalist हेतु आयु सीमा –  सूत्रों के मुताबिक यूपीपीएससी मौजूदा व्यवस्था में बदलाव करने पर विचार कर रही है। अयोग का मानना है कि यूपीएससी द्वारा अखिल भारतीय स्तर की सिविल सेवा परीक्षा के लिए लागू व्यवस्था ही उचित है। आइएएस परीक्षा के लिए न्यूनतम आयु तो 21 वर्ष ही है लेकिन सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु की सीमा 32 साल होने के साथ ही अवसरों की संख्या छह ही है।
ओबीसी के लिए 35 वर्ष व नौ अवसर यानि 14 साल में नौ अवसर तय हैं। एससी व एसटी के लिए आयु की बाध्यता नहीं है। वहीं जम्मू-कश्मीर के अभ्यर्थियों को आयु सीमा में पांच साल की जबकि दिव्यांगों को 10 साल की छूट है।

Journalist Salary In Hand –  अगर आप भी पत्रकारिता कोर्स करने की सोच रहें हैं और कोर्स के बाद नौकरी में मिलने वाले वेतन को लेकर भर्मित है तो यहां हम उस दुविधा का हल लाएं हैं। एक जर्नलिस्ट की पूरे वर्ष की सैलरी 20,0000 से 50,0000 के बीच हो सकता है। अगर भारत में जर्नलिस्ट की सैलरी की बात करें तो यहां शुरुआती सैलरी 10,000 से 20,000 होती है। पर धीरे-धीरे जैसे अनुभव होता रहता है सैलरी भी बढ़ती रहती है। एक सीनियर रिपोर्टर की सैलरी जिसे 10 से 12 वर्ष का अनुभव हो उसकी सैलरी 1-2 लाख रु.और चीफ एडिटर की 5 लाख या उससे भी अधिक हो सकती है।अंत में यही कहना सही होगा की कार्य अनुभव किसी भी कार्य क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। जैसे -जैसे अनुभव बढ़ता जायेगा सैलरी भी बढ़ती रहेगी।

Journalist Job Profile –  अगर आप भी पत्रकारिता कोर्स करना चाहते हैं पर इस बात को लेकर दुविधा में है कि इसके आगे क्या करें। पत्रकारिता पाठ्यक्रम करने के बाद इसका कार्य क्षेत्र और करियर ऑप्शन क्या होगा तो आप निचे दिए गए बिंदुओं को पढ़ें।
1) एडिटर
2) कार्टूनिस्ट
3) फोटो जर्नलिज्म
4) प्रूफ रीडर
5) फीचर लेखक
6) लीडर राइटर
7) विशेष रिपोर्टर
8) आलोचक
9) प्रस्तुतकर्ता
10) शोधकर्ता
11) रिपोर्टर
12) ब्रॉडकास्ट रिपोर्टर
13) स्तम्भकार (कॉलमनिस्ट )

Journalist Course सिलेबस :-
1) प्रशिक्षु
2) संवाददाता
3) मुख्य संवाददाता
4) स्टाफ रिपोर्टर
5) वरिष्ठ संवाददाता
6) प्रधान रिपोर्टर
7) विशेष प्रतिनिधि

Related Useful Article

Leave a Comment

Don`t copy text!